नई दिल्ली. मेवात के खंड तावड़ू में गैंगरेप की शिकार बहनों ने सनसनीखेज खुलासे किए हैं. बहनों का कहना है कि रेप करते समय आरोपियों ने कहा था कि उन्हें बीफ खाने की सजा दी जा रही है. दिल्ली में कार्यकर्ता शबनम हाशमी की मौजूदगी में दोनों बहनों ने ये खुलासा किया.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
पीड़ित बहनों के अनुसार जब हमलावर घर में घुसे तो उन्होंने पूछा कि क्या तुमने बीफ खाया? उन्होंने कहा नहीं, लेकिन वे माने नहीं. उन्होंने सभी परिजनों को बांध दिया और उनके साथ दुराचार किया. वहीं, मामले में पुलिस का कहना है कि पीड़िताओं ने अब से पहले इस बात का कहीं जिक्र नहीं किया.  न ही किसी ने इसके बारे में बताया.
 
बता दें कि बीते 24 अगस्त को मेवात जिले के खंड तावड़ू के एक गांव में आधा दर्जन बदमाशों ने एक परिवार के आधा दर्जन लोगों को बंधक बनाकर तीन घंटे तक पहले लूटपाट की थी. उसके बाद अभिभावकों के सामने नाबालिगों से गैंगरेप किया और बाद में पीड़िता के मामा-मामी की पीट-पीटकर हत्या कर दी. बाद में मौसेरी बहन से भी सामूहक दुष्कर्म किया गया. 
 
पुलिस ने हत्या, गैंगरेप व पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज जांच के लिए पांच टीमों का गठन किया था. आरोपियों को कई दिनों तक पकड़ने में नाकाम रही पुलिस ने इससे पहले उनके स्कैच जारी किए थे. साथ ही आईजी (साउथ) ममता सिंह ने घटनास्थल का दौरा दोबारा किया और वहां लोगों से मिल उनका बयान दर्ज किया. इस बीच पुलिस ने केस से जुड़े सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस का कहना है कि पकड़े गए आरोपियों की उम्र बीस साल के पास है, इसमें उनकी पहचान राहुल, करमजीत, संदीप और अमरजीत के रूप में हुई है.