नई दिल्ली.  अगर आपको कोई बिजनेस शुरू करना है और रिस्क लेने से घबरा रहे हैं तो चिंता मत करिए. मोदी सरकार ऐसे लोगों के लिए बड़ी योजना लेकर आई है. 

इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 

केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री जन औषधि योजना शुरू की है. इस योजना में सरकार ने कुछ बदलाव किए हैं जिसमें अब दुकानदार को 1.5 लाख रुपए से बढ़ाकर 2.5 लाख तक इंसेटिव दिया जाएगा. 
 
यह रुपया महीने की मार्जिन और दुकान खोलने पर मिलने वाली ग्रांट से अलग मिलेगा. सीधे शब्दों में समझें तो महीने भर में कुल दवा की सेल का 10 फीसद इंसेटिव दिया जाएगा. 
 
कैसे शुरू होगा बिजनेस

सरकार के प्लान के मुताबिक इस योजना से जुड़ने वाले को कम से कम साल तक मुनाफे की गारंटी दी जाएगी. जिसमें 2.5 लाख तक का इंसेटिव जो महीने के हिसाब से मिलेगा. इतना ही नहीं हर महीने की बिक्री के हिसाब से 20 फीसद का कमीशन मुनाफा भी मिलेगा.

कौन जुड़ सकता है योजना से
इस योजना का लाभ कोई भी उठा सकता है. इसके अलावा एजेंसी, एनजीओ,फॉर्मासिस्ट, निजी रिटेलर और चैरिटेबल ट्रस्ट भी जुड़ सकते हैं.
 

योजना से जुड़े तो मुनाफा तय
1- सरकार ने महीने के हिसाब से दुकानदारों का कमीशन तय किया है. जो कि 20 फीसद है. यह ट्रेड मार्जिन है.
2- इंसिटेव महीने की बिक्री के हिसाब से 10 फीसद तक होगा. जिसे बैंक खाते में डाल दिया जाएगा. सरकार ने इसे 2.5 लाख तक कर दिया है. इसे आपके खाते में सीधे डाल दिया जाएगा.
3- इसे दो साल तक दिया जाएगा. मतलब मार्जिन के अलावा इंसेटिव भी मिलेगा. अगर कोई शख्स महीने में 1 लाख की दवा सेल करता है तो उसे 30 हजार तक का मुनाफा होगा.
4- इससे फायदा यह होगा कि सरकार की ओर से तय मुनाफा और इंसिटेव से दुकानदार को अपना बिजनेस खड़ा करने का मौका मिल जाएगा.
 
कैसे मिलेगा इंसेटिव
इसे कुल सेल का 10 फीसद रखा गया है. इसकी लिमिट 10 हजार रुपए महीने रखी गई है. अगर दुकानदार एक लाख से ज्यादा की दवा बेचता है तो भी उसे 10 हजार रुपए ही मिलेगा. यह 2.5 लाख रुपए तक की लिमिट तक मिलता रहेगा. इतना ही नहीं नक्सल प्रभावित इलाकों में इसकी लिमिट 15 फीसद तय की गई है.
 
कैसे खुलेगा मेडिकल स्टोर
इसके लिए आपको  प्रधानमंत्री जनऔषधि योजना के तहत खाता खोलना होगा. जिसमें सरकार 2.5 लाख रुपए का ग्रांट देगी. अभी तक राज्य सरकार की ओर से नामित एजेंसियों को ही यह ग्रांट मिल रहा था. लेकिन अब सरकार ने सबके लिए खोल दिया है.
 
खरीदनी होंगी एक लाख रुपए की दवा
स्टोर शुरू करने के लिए शुरुआत में एक लाख रुपए की दवा खरीदनी होगी. बाद में सरकार हर महीने रीइंबर्समेंट देगी.
 
सरकार देगी 1.50 हजार रुपए की मदद 
दुकान बनाने, फ्रिज और कंप्यूटर के लिए सरकार 1.50 हजार तक की मदद करेगी.
 
मिलेगा अब ज्यादा कमीशन
सरकार ने अब दुकानदारों का कमीशन 15 से 20 फीसद कर दिया है यानी अगर महीने में 1 लाख रुपए की दवा बिकती है तो 20 हजार की बचत आपके खाते में जाएगी. दुकान खोलने के लिए 120 वर्गफुट एरिया में दुकान होना जरूरी है.
 
इस योजना के लिए यहां पर फॉर्म डाउनलोड करें. इसे भरकर 2 हजार रुपए के डिमांड ड्राफ्ट के साथ ब्यूरो ऑफ फॉर्मा पब्लिक सेक्टर अंडरटेकिंग ऑफ इंडिया के जनरल मैनेजर(A&F)के नाम से भेज दें. जिसका पता यहां क्लिक करने पर मिलेगा.