नई दिल्ली. एक तरफ जहां डीजीसीए ने हवाई यात्रा के दौरान चेक इन बैग्स में सैमसंग के गैलेक्सी नोट 7 को ले जाने पर रोक लगा दी है वहीं सैमसंग ने ऑस्ट्रेलिया से अपने ख़राब हैंडसेट्स को वापस लेने की प्रक्रिया शुरू कर दी है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
इस बीच सैमसंग ने यह भी बताया है कि उसके ग्राहक कैसे पता लगा सकेंगे कि उन्हें मिलने वाला नोट 7 सुरक्षित है या नहीं? दरअसल सैमसंग जिन हैंडसेट्स को बदल कर वापस करेगा उनका बॉक्स ही यह स्पष्ट करेगा कि उन्हें मिलने वाला नोट 7 सुरक्षित है.
 
 
वह हैंडसेट्स जिनमे खराब सेल वाली बैटरी हटा ली गयी है और जिनके आग पकड़ने की सम्भावना अब नहीं होगी उन्हें बॉक्स के बारकोड पर एक ‘S’ और एक काले रंग का स्क्वायर देखने को मिलेगा. इसके अलावा जल्द सैमसंग के ऑनलाइन डेटाबेस में भी आईईएमआई नम्बर के जरिये यह पता किया जा सकेगा कि फोन सुरक्षित है या नहीं. 
 
बता दें कि इस महीने की शुरुआत में दुनिया भर से सैमसंग के गैलेक्सी नोट 7 के ब्लास्ट होने की ख़बरें आने लगी थी. इसके बाद सैमसंग ने इसकी सेल पर रोक लगा दी थी और बेचे जा चुके हैंडसेट्स को बदल कर देने की बात कही थी.
 
 
वहीं अभी भारत में इस स्मार्टफोन के प्रशंसक इसकी लॉन्चिंग के इंतज़ार में ही हैं. इस देरी के ऐवज में सैमसंग भी अपने भारतीय ग्राहकों को करीब 7 हज़ार की कीमत वाला वीआर गियर मुफ्त में उपलब्ध कराने का वादा कर चुका है.