नई दिल्ली.  एक रिसर्च के मुताबिक ट्रैफिक जाम में बार-बार फंसने से आपकी हेल्थ पर बुरा असर पड़ता है. एक रिसर्च के मुताबिक  अगर आप 1 घंटे से ज्यादा ट्रैफिक जाम में फंसते हैं तो दिल का दौरा और कैंसर होने का खतरा बढ़ जाता है. 

कैंसर होने का खतरा 

ट्रैफिक जाम में फंसने से कैंसर जैसी बीमारी का खतरा बढ़ा जाता हैं. इसकी सबसे बड़ी वजह है, गाड़ी से निकलने वाला धुआं, शोर-शराबा और तनाव. इंग्लैंड में यूनिवर्सिटी ऑफ सरे के भारतीय मूल के प्रशांत कुमार ने ट्रैफिक जाम पर किए गए रिसर्च में बताया है कि घंटों और लंबे ट्रैफिक जाम के कारण गाड़ियों से निकलने वाला धुआं जहरीली गैस बनाता है, जोकि कि घर में बैठे व्यक्ति की तुलना में ट्रैफिक में फंसे लोगों को कई गुना अधिक प्रभावित करता है.

 ट्रैफिक जाम के दौरान शीशा नीचे न करें

रिसर्च में बताया है कि ट्रैफिक जाम के दौरान कार में बैठे लोग अपने शीशे को नीचे करके बाहर की हवा न लें, बल्कि एसी से निकलने वाली हवा या फिर कार के अंदर की हवा को ही रिसर्कुलेट करते रहना चाहिए. इन हालात को ध्यान में रखते हुए आप इस भारी उलझन का सामना कैसे कर सकते हैं?

ट्रैफिक ज्यादा हो तो ये करें

ट्रैफिक ज्यादा हो, तो थोड़ा जल्दी निकलिए. तब आप ट्रैफिक जाम में फंसने से बच सकेंगे. ट्रैफिक में फंसने से कई बार तनाव होता है. तनाव कम करना हो तो सफर की शुरुआत रात से शुरू कर दें. सुबह की भाग-दौड़ कम करने के लिए रात को ही अपने या अपने बच्चों के लिए कपड़े, ब्रीफकेस, और दोपहर का खाना, सब कुछ तैयार कर लीजिए.

ट्रैफिक जाम के दौरान सूनें म्यूजिक 

अगर गाड़ी में रेडियो, टेप-रेकॉर्डर या सी.डी. प्लेयर है, तो आप अपना मनपसंद संगीत सुन सकते हैं. अगर आप सवारी हैं तो आगे गाड़ियों की लंबी कतार को यूं ही देखते रहने से आपका तनाव और बढ़ सकता है. इसलिए समय का अच्छा इस्तेमाल करने की पहले से योजना बनाइए. चाहें तो आप अपने साथ अपनी मनपसंद किताब या अखबार ले सकते हैं.