पटना. बिहार के बेगूसराय में एक महिला अपने दो मासूस बच्चों को नदी में फेंक कर प्रेमी के संग फरार हो गई है. महिला ने मां की ममता को तार-तार करते हुए अपनी दोनों बेटियों को मंगलवार सुबह करीब 6 बजे बूढ़ी गंडक नदी में फेंक दिया, जिसके बाद पानी में बच्चों के गिरने की आवाज सुन कर मछुआरों ने उनकी जान बचाई.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
मछुआरों ने बचाई जान
रिपोर्ट्स के अनुसार नीलू ने जब दोनों बच्चियों को पानी में फेंका उसकी आवाज सुनकर नदी में मछली मार रहे मछुआरों की नजर उन पर पड़ी. चांदपुरा पंचायत निवासी मछुआरा बलराम सहनी ने नाव के सहारे बच्चों को पानी से बाहर निकाला और निजी क्लिनिक में बच्चों का इलाज कराया. फिलहाल दोनों बच्चियों की एकदम सही सलामत हैं. 
 
पिता की आंखों में धूल झोंककर फरार
पीड़ित बच्चियों के नाना के अनुसार वो वह अपनी बेटी नीलू देवी को उसकी दोनों बच्चियों के साथ ससुराल पहुंचाने के लिए बस पर सवार होकर घर से चले थे, लेकिन रास्ते में नीलू उनकी आंखों में धूल झोंकते हुए इस्फा पुल से आधा किलोमीटर पहले ही बस से उतर गई. जिसके बाद उन्हें पता चला कि नीलू दोनों बेटियों को नदी में फेंक कर फरार हो गई है. पूलिस ने मामला दर्ज कर जांच में जुट गई है.