नई दिल्ली. आम तौर पर सनक का सम्बन्ध एक व्यक्ति के ‘सामाजिक रूप से अनुपयुक्त’ या अनोखे व्यवहार से किया जाता है. यह आवश्यक नहीं है की ऐसा व्यवहार प्रमाण्य रूप से अनुपयुक्त हो, परन्तु फिर भी इसे विचित्र या अनावश्यक माना जाता है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
इंडिया न्यूज के खास शो में आज हम इसी सनक की बात करेंगे. सनक में क्या कभी साइकिल से इमारत लांघने का पागलपन देखा है ? आसमान में उड़ती हुई कार किसी को खिलौने जैसी नज़र आती है… सनक किसे कहते हैं ? तो कुछ लोगों को कुएं में मौत नहीं बल्कि रोमांच नज़र आ रहा है…ऐसी सनक की पूरी कहानी बताएंगे खास शो ये सनक की ‘डेड’लाइन में.