लखनऊ. अपने फतवों को लेकर हमेशा सुर्खियों में रहने वाले देवबंद के दारुल उलूम ने एक और नया फतवा जारी किया है. इस बार इन्होंने बाबा रामदेव की पतंजलि के प्रोडक्ट्स पर सवाल खड़े कर दिए हैं. देवबंद के उलूम ने गौमूत्र के इस्तेमाल से बने उत्पादों को मुस्लिमों के लिए ‘नाजायज’ बताया है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
इससे पहले तमिलनाडु तौहीद जमात (TNTJ) ने जनवरी इसी तरह का फतवा जारी किया था. जिसका देवबंद के उलेमाओं ने भी समर्थन किया था.दारुल उलूम ने फतवा जारी करते हुए कहा है कि अगर ऐसा कहा जाता है कि किसी समान में गौमूत्र मिला है तो उसके इस्तेमाल की इजाजत नहीं है. हालांकि यह भी कहा कि अगर यकीन हो जाएं कि उस ब्रांड के दूसरे उत्पाद में गौमूत्र इस्तेमाल नहीं किया गया तो उसका इस्तेमाल किया जा सकता है.