बुलंदशहर.  NH-91 पर  मां-बेटी गैंगरेप मामले में आरोपियों ने कोर्ट के सामने एक ऐसी मांग रखी जिससे सनसनी फैल गई. बुलंदशहर गैंगरेप आरोपियों ने कोर्ट से अपने नार्को टेस्ट की मांग की है. सीबीआई ने तीन आरोपियों को अदालत के सामने पेश किया था.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
गैंगरेप के आरोपी पक्ष की वकील मंजू शर्मा ने बताया कि आरोपियों ने अपनी पेशी के दौरान जज के सामने खुद को बेगुनाह बताया. आरोपियों ने कहा कि उन्हें पुलिस ने इस केस में फंसाया गया है. उन्होंने इस घटना को अंजाम नहीं दिया है और न ही वह गुनहगार हैं.
 
अपनी बेगुनाही साबित करने के लिए आरोपियों ने कोर्ट से कहा कि उनका नार्को टेस्ट करा लिया जाए. नार्को टेस्ट से उनकी इस मामले में संलिप्तता है या नहीं. साबित हो जाएगी.
 
आरोपी पक्ष की वकील ने अदालत से यह भी कहा कि सीबीआई ने इस मामले में पुलिस द्वारा बरामद दिखाया गया सामान कोर्ट के समक्ष नहीं रखा है. पुलिस ने अपनी तफ्तीश के दौरान आरोपियों से पीड़ित पक्ष से लूटी गई ज्वैलरी और मौके पर मिली आरोपियों की चप्पलें बरामद करने का दावा किया था.