नई दिल्ली. भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IIT) इस बार के प्लेसमेंट सेशन में 20 ऐसी स्टार्टअप कंपनियों को ब्लैकलिस्ट करने वाली है जो छात्रों को जॉब का ऑफर देकर मुकर जाती हैं या जॉब प्रोफाइल देती हैं. इस लिस्ट में उन कंपनियों का नाम शामिल है, जिन्होंने पिछले साल ग्रेजुएट हुए छात्रों को प्लेसमेंट देने के बाद उसे कैंसिल कर दिया था या किसी कारण से ज्वॉइनिंग की तारीख बदल दी थी.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
ब्लैकलिस्ट होने वाली कंपनियों की तीन लिस्ट ऑल आईआईटी प्लेसमेंट कमिटी (AIPC) की तरफ से बनाई जाएंगी. पहली लिस्ट में वे कंपनियां होंगी जिन्होंने प्लेसमेंट टाल दिया, दूसरी लिस्ट में उन कंपनियों का नाम होगा जिन्होंने जॉब प्रोफाइल बदल दी या सैलरी में बदलाव कर दिया और तीसरी लिस्ट उन कंपनियों की होगी जिन्होंने अपना ऑफर वापस ले लिया था. इसमें पहली और दूसरी लिस्ट की कंपनियों को तो वार्निंग दी जाएगी लेकिन तीसरी सूची के कंपनियों को ब्लैकलिस्ट किया जाएगा.
 
जोमैटो को पिछले साल IIT की प्लेसमेंट लिस्ट से बैन किया जा चुका है. इनपर यह बैन इस साल भी जारी रहेगा. वहीं फ्लिपकार्ट को वार्निंग लेटर दी गई थी. IIT के फैकल्टी मेंबर मोहन्ती के अनुसार IIT कानपुर में हुए AIPC की बैठक में 12 IIT कॉलेज मौजूद थे. हालांकि IIT बॉम्बे के सदस्य इस मीटिंग में नहीं आए थे. मोहन्ती के मुताबिक सभी IIT इस बात पर एक मत थे कि ऐसी कंपनियों को ब्लैकलिस्ट किया जाए जो अपने करार से मुकर गए है.