बुलंदशहर. उत्तर प्रदेश के जिला बुलंदशहर में बिजली विभाग के संविदाकर्मियों को साल भर से ज्यादा समय से बगैर वेतन के काम कराया जा रहा है. हड़ताल और डीएम आश्वासन के बावजूद पिछले 14 महीने से इन्हें वेतन नहीं दिया गया. बताया जा रहा है कि संविदाकर्मी लाइनमैन एक बार फिर हड़ताल पर जाने की तैयारी कर रहे हैं. ऐसे में बुलंदशहर के अधिकांश क्षेत्रों में अंधेरा छाने का खतरा मंडरा रहा है. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
इस सिलसिले में इंडिया न्यूज ने खुर्जा डिवीजन के एएक्सएन रामबाबू शर्मा से बात की तो वे इस मामले से बचाव की मुद्रा में नजर आए. वहीं जेई ने कोई संतोषजनक उत्तर नहीं दिया। बल्कि ठेकेदार के पक्ष में ही बात की. जेई संविदाकर्मियों के पक्ष में एक शब्द भी बोलने को तैयार नहीं हैं।. अरुण भारद्वाज पर पिछले करीब चार महीने से यहां का टेंडर है. भारद्वाज का दावा है कि उन्होंने पेमेंट कर दिया है जबकि संविदाकर्मी लाइनमैन इस बात से साफ इंकार कर रहे हैं. 
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
इंडिया न्यूज को मिली जानकारी के अनुसार संविदाकर्मियों का पेमेंट बड़े अंतर के कारण लटका हुआ है. अरुण भारद्वाज 4500 रुपये महीने दे रहे हैं जबकि कर्मचारी 7554 रुपये के हिसाब से मांग रहे हैं. इसी बात पर मामला अटका हुआ है. संविदाकर्मियों का कहना है कि अन्य सबडिवीजन पर 7554 रुपये के हिसाब से ही दिए जा रहे हैं लेकिन यहां के मामले में कोई अधिकारी उनकी बात सुनने को तैयार नहीं है. साथ ही अरुण भारद्वाज बार-बार उनपर 4500 रुपये के हिसाब से दो महीने की पगार लेने का दवाब बना रहा है.