रुड़की. शिक्षा के लिए मशहूर रुड़की से एक चौंकाने वाली खबर सामने आई है. यहां पर जाने माने सेंट जोन्स पब्लिक स्कूल में छात्रों को विधालय की स्थापना से लेकर आज तक छात्रों को राष्ट्रगान न तो सिखाया गया और न ही सुनाया गया है. इस स्कूल में 25 सालों से राष्ट्रगान नहीं गाया गया है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
इससे भी ज्यादा चौंकाने वाली बात ये है कि प्रिंसिंपल को भी राष्ट्रगान नहीं आता. उनसे राष्ट्रगान के बारे में पूछे जाने पर कहा कि राष्ट्रगान क्या होता है, तो उन्होंने कहा कि मुझे नहीं पता आप लिखकर दोगे तो मैं बता दूंगा. स्कूल प्रबंधन पर राष्ट्रगान के अपमान का आरोप लगाकर बीजीपी कार्यकर्ताओं ने सिविल कोर्ट में मामला दर्ज करा दिया. वहीं पुलिस का कहना है कि मामले की जांच चल रही है.
 
 
बता दें कि इससे पहले इलाहाबाद में एम. ए. कान्वेन्ट स्कूल की स्थापना 12 साल पहले हुई. दरअसल स्कूल में 12 साल से राष्ट्रगान गाने पर प्रतिबंध लगा हुआ था. ज़िया-उल-हक़ को राष्ट्रगान में भारत-भाग्य-विधाता से ऐतराज था. मामले का खुलासा तब हुआ जब स्कूल की प्रिंसिपल सहित 8 टीचर्स ने स्कूल में राष्ट्रगान पर बैन के कारण इस्तीफा दे दिया. जिसके बाद जांच प्रशासन ने स्कूल प्रबंधक ज़िया-उल-हक़ को गिरफ्तार कर लिया और स्कूल को बंद करने का आदेश दिया.