नई दिल्ली. आईआईटी मद्रास के कैंपस में पेरियार स्टूडेंट सर्कल यानि एपीएससी फोरम पर बैन लगाने के खिलाफ छात्रों ने सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया है. आरोप है कि इस फोरम के जरिए केंद्र की मोदी सरकार की नीतियों के खिलाफ माहौल बनाया जा रहा था. इसके बारे में किसी ने मानव संसाधन विकास मंत्रालय को शिकायत भेजी थी कि फोरस के जरिए आईआईटी कैम्पस में पैंफलेट और पोस्टर बांटकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ ‘घृणा फैलाने’ की कोशिश की गई. स्टूडेंट फोरम एपीएससी की शिकायत के बाद मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने आईआईटी मद्रास को चिट्ठी लिख कर इस बारे में अपना पक्ष रखने के लिए कहा था जिसके बाद आईआईटी मद्रास ने एपीएससी फोरम पर बैन लगा दिया.

इस मामले पर आआईटी मद्रास मे स्टूडेंट फोरम को बैन करने पर मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि नियम के तहत कार्रवाई हुई.ये संस्थान के फैसले का विषय है. इस पर राजनीति करना ठीक नहीं. वहीं राहुल गांधी ने सरकार पर हमला करते हुए कहा कि अभिव्यक्ति की आजादी हमारा हक है. अगर कोई असहमति और डिबेट को दबाने की कोशिश करता है तो हम उसके खिलाफ लड़ेंगे.