नोएडा. ग्रेटर नोएडा के बिसरख गांव में बना रावण मंदिर मूर्ति स्थापना से पहले ही विवादों में आ गया है. आज मंदिर में रावण की मूर्ति स्थापना 11 अगस्त को होने वाली है, लेकिन रामभक्तों ने इससे पहले ही घमासान मचा दिया है और रावण की प्रतिमा को तोड़ा. यही नहीं रामभक्तों ने मूर्ति स्थापना करने पर जान से मारने की धमकी भी दी है.

इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर

बवाल के बाद गांव में पुलिस बल को तैनात किया गया है. मंदिर के पुजारी अशोका नंद महाराज के मुताबिक करीब 30 से 40 लोग बंदूक और लाठी-डंडे लिए मंदिर पहुंचे और तोड़फोड़ किया. उपद्रवियों ने एक दशक पुरानी रावण की मू्र्ति को भी तोड़ दिया.

 

मंदिर का निर्माण मोहन मंदिर योग आश्रम ट्रस्ट एवं महात्मा रावण मंदिर ट्रस्ट की ओर से किया गया है. मंदिर में रावण की मूर्ति की स्थापना 11 अगस्त को की जाएगी. मंदिर ट्रस्ट के संस्थापक अध्यक्ष अशोकानंद महाराज के अनुसार इस मूर्ति स्थापना समारोह में देश भर से कई राजनीतिक, सामाजकि और धार्मिक हस्तियों को शामिल होने के लिए बुलावा भेजा गया है. 

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि स्वामी चक्रपाणि महाराज होंगे. रावण के साथ-साथ गणेश, राम परिवार, राधा-कृष्ण, मां दुर्गा, हनुमान, शनि, मोहन बाबा आदि कई देवताओं की मूर्तियों को स्थापित किया जाएगा.