जयपुर. पिछले तीन साल से नाबालिग से दुष्कर्म के आरोप में जेल में बंद आसाराम को राजस्थान हाईकोर्ट से बड़ा झटका लगा है. कोर्ट ने तीसरी बार आसाराम की जमानत की याचिका खारिज कर दी है. बता दें कि पहले भी दो बार कोर्ट आसाराम को जमानत देने से मना कर चुका है. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
इससे पहले 19 जुलाई को आसाराम के वकील ने बीमारी का नाम लेकर केरल में इलाज के खातिर जमानत याचिका लगाई थी. लेकिन कोर्ट ने उसे खारिज कर दिया था. इस मामले में कोर्ट ने पहले भी सुनवाई करते हुए कहा था कि आसाराम को ऐसी कोई बीमारी नहीं है कि जिसका इलाज सिर्फ केरल में हो. बता दें कि जमानत लेने के लिए आसाराम का यह आठवां प्रयास था. 
 
22 जून को आसाराम ने स्वास्थ्य खराब होने को आधार बनाते हुए जमानत याचिका दायर की थी. उन्होंने याचिका में खुद को लगभग एक दर्जन से ज्यादा बीमारियों से पी़ड़ित बताया था. इसके अलावा केरल के प्राकृतिक एवं आयुर्वेद पंचकर्म चिकित्सालय में इलाज कराने की इच्छा जाहिर की थी. जिसके बाद एक एक मेडिकल टीम ने आसाराम का हेल्थ टेस्ट किया था. यह टीम हाईकोर्ट द्वारा गठित की गई थी. टीम की रिपोर्ट के आधार पर ही कोर्ट ने इस मामले में सुनवाई की है. 
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
बता दें कि आसाराम अपने गुरुकुल की नाबालिग छात्रा के यौन उत्पीड़न के आरोप में पौने तीन साल से जोधपुर जेल में बंद हैं.