लखनऊ. एक के बाद एक रेप की वजह से शर्मसार उत्तर प्रदेश पुलिस की नाक के नीचे पूरे राज्य में 50 रुपए से 150 रुपए में आजकल रेप के वीडियो बेचे जा रहे हैं. रेप वीडियो का यह कारोबार ब्लू फिल्म के बाजार को टार्गेट कर रहा है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
अंग्रेजी अख़बार टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी रिपोर्ट के मुताबिक यूपी के ज्यादातर इलाकों में फिल्मों की सीडी-डीवीडी बेचने वाले दुकानदार ब्लू फिल्मों से ज्यादा इस तरह के रेप वीडियो बेच रहे हैं. इस तरह के वीडियो कुछ सेकेंड से कुछ मिनट तक के होते हैं जिसे ग्राहक को पेन ड्राइव में दिया जा रहा है या फिर उसके मोबाइल में ही डाल दिया जा रहा है.
 
ये बात हम आए दिन सुनते रहते हैं कि रेप की शिकार कई लड़कियों के साथ दरिंदगी की फिल्म बना ली जा रही है ताकि उन्हें ब्लैकमेल किया जा सके. इस तरह के वीडियो प्रेमी युगल सहमति से बन रहे संबंध के दौरान भी बना रहे हैं जिसका इस्तेमाल आगे चलकर ब्लैकमेलिंग में हो रहा है.
 
पुलिस राज्य में इस तरह के धंधे में जुटे लोगों पर समय-समय पर रेड मारती है और कुछ लोग गिरफ्तार होते हैं लेकिन ब्लू फिल्मों की जगह रेप की वीडियो का बाजार तेजी से बढ़ता जा रहा है. रेप के वीडियो का बड़े पैमाने पर बिकना गिरती नैतिकता का सबसे बड़ा सबूत है और हमें याद दिला रहा है कि समाज में ऐसे लोग हैं जो महिलाओं की आबरू लूटने की फिल्म में अपना मनोरंजन तलाश रहे हैं.