मैनपुरी. उत्तर प्रदेश के मैनपुरी में मात्र 15 रुपए के बकाया की वापसी को लेकर एक ब्राह्मण दुकानदार इतना उग्र हो गया कि कुल्हाड़ी के वार से दलित पति और पत्नी की जान ले ली. सूत्रों के मुताबिक लखीमपुर गांव में अशोक मिश्रा नाम के दुकानदार से 45 साल के भरत नट ने एक बिस्किट का पैकेट उधार लिया था जो 15 रुपए का था. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
गुरुवार की सुबह मिश्रा ने 40 साल की पत्नी ममता के साथ जा रहे भरत को उधार वापसी के लिए टोका. भरत ने मिश्रा से कहा कि जैसे ही मजदूरी मिलेगी वो पैसे चुका देगा लेकिन मिश्रा तुरंत पैसे लौटाने की जिद करने लगा. दोनों के बीच इसी पर बहस हो गई और आपे में मिश्रा ने पास में रखी कुल्हाड़ी उठाकर दोनों पर हमला कर दिया.
 
कुल्हाड़ी के तेज वार से घायल भरत और ममता ने दम दोड़ दिया. इसके बाद मिश्रा दुकान छोड़कर गांव में ही छिप गया था लेकिन पुलिस ने उसे खोजकर गिरफ्तार कर लिया है.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 

मैनपुरी सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव का गढ़ है जहां से उनके पोता और आरजेडी अध्यक्ष लालू यादव के दामाद तेज प्रताप यादव सांसद हैं. यह सीट तेज प्रताप ने एक उप-चुनाव में जीती जब मुलायम सिंह ने 2014 के चुनाव में मैनपुरी और आजमगढ़ दोनों सीट जीतने के बाद मैनपुरी सीट खाली कर दी थी.