पटना. बिहार के रोहतास जिला के बिक्रमगंज के इंद्रास कला गांव के अशोक की मंगलवार को बारात बक्सर जिला के नावानगर थाना के अमिरपुर गयी थी. जहां द्वार पूजा के दौरान की जा रही फांयरिग में दूल्हे को ही गोली लग गई और घटना स्थल पर ही उसकी मौत हो गई. बारात में लगातार फायरिंग करना परिवार को महंगा पड़ा और गोली दूल्हे को ही जा लगी. 
फायरिंग देशी कट्टे से की जा रही थी. घटना के बाद परिजनों ने बिक्रमगंज के एक निजी क्लीनिक में दूल्हे अशोक को लाया, लेकिन डाक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया. दूल्हा अशोक अपनी दुल्हन अंजू को लाने के लिए सज धज कर निकला था, उसे क्या पता था कि बारात में उसी की मौत की तैयारी हो रही है. जिस फूलों से सजी कार में दूल्हा अशोक नावानगर गया, उसी से उसकी अर्थी भी वापस आई.