नई दिल्ली. मॉनसून सत्र के दौरान मंगलवार को राज्यसभा में फेयरनेस क्रीम पर जमकर बहस हुई. साथ ही ऐसी क्रीमों के विज्ञापनों पर रोक लगाने की मांग भी की गई.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
शून्य काल के दौरान कांग्रेस नेता विप्लव ठाकुर ने फेयरनेस क्रीम के विज्ञापन के मुद्दे को गंभीरता से उठाते हुए कहा, ‘फेयर एंड लवली और पॉन्डस जैसे क्रीम के विज्ञापनों पर रोक लगानी चाहिए. ऐसे विज्ञापन महिलाओं को भ्रमित करते हैं. इससे महिलाओं में हीन भावना आती है.’
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
उन्होंने कहा कि प्रत्येक क्रीम का दावा महिलाओं को चंद दिनों में गोरा करने का होता है, लेकिन रिजल्ट हमेशा जीरो ही होता है. इसलिए ऐसे विज्ञापनों पर तुरंत बंद करना चाहिए.