नई दिल्ली. बिहार के जमुई जिले में देवघर से पूजा करके लौट रहे पांच कांवड़ियों की सड़क हादसे में मौत हो गई. जबकि सात कांवडिए गंभीर रुप से घायल हुए है. देवघर से पूजा कर बेतिया जा रहे कांवड़ियों को बालू से लदे ट्रक ने कुचल डाला. जिससे इन पांच कांवड़ियों की घटनास्थल पर ही मौत हो गई और जबकि सात गंभीर रुप से जख्मी हुए.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
गंभीर रूप में घायल हुए साथ कांवड़ियों को पास के ही जमुई के सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया. जहां उनका इलाज किया जा रहा है. सभी मृतकों की पहचान हो गई है. इनके नाम हैं चंद्रिका मुखिया, हरेंद्र मुखिया, राम बाबू शर्मा, शैलेश तलवार और सुरेश बैठा. ये सभी बेतिया के जोगापट्टी मुहल्ले के रहने वाले थे.
 
ये कांवड़िये एक जीप पर सवार होकर बेतिया के जोगापट्टी के रहने वाले देवघर से पूजा कर घर लौट रहे थे. रास्ते में चकाई पेट्रोल पंप के पास जीप का टायर पंचर हो गया. ड्राइवर जीप टायर बदल रहा था और सभी कांवड़ियें सड़क किनारे बैठकर मुंह धो रहे थे. तभी सामने से तेज रफ्तार में आ रहा एक बालू से लदा ट्रक कांवड़ियों को रौंदते हुए चला गया.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
जमुई के एसपी जयंतकांत ने कहा कि ट्रक का टायर पंचर हो जाने के कारण ट्रक नियंत्रण से बाहर हो गया. और ये हादसा हुआ. एसपी ने भी पांच मौत की पुष्टि की है.घटनास्थल पर अफरातफरी का माहौल बन गया. स्थानीय प्रशासन को छोड़ जिला का कोई भी आलाधिकारी घटनास्थल पर नही पहुंचा है. कांवरियों को सावन महीने में जिला प्रशासन के मिलने वाली सुविधा नहीं देखने को मिली . जिस कारण कांवड़ियों में काफी आक्रोश पाया गया.