नागपुर. महाराष्ट्र के नागपुर में ‘जय’ नाम के बाघ के लापता होने से हडकंप मचा हुआ है. बाघ 18 अप्रैल को उमरेद करहांडला वन्यजीव अभ्यारण्य से लापता हुआ था. बाघ की गुमशदगी को लेकर 350 गांवों में गुमशदगी के पोस्टर लगाए गए हैं. बाघ को खोज निकालने पर 50 हजार के इनाम की भी घोषणा की गई है. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे इस जय नाम के बाघ खो जाने से अच्छे खासे नाराज हैं. उद्धव ने कहा है कि पहले ही बाघों की संख्या कम हैं ऐसे में इस मशहूर बाघ का तीन महीने से लापता होना चिंता का विषय है. उन्होंने महाराष्ट्र सरकार से जल्द इस बाघ को ढूंढने के लिए कहा है.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
बता दें कि जय नाम का बाघ इस पूरे अभयारण्य का सबसे मशहूर और लोकप्रिय बाघ है. जय के गले में रेडियो कॉलर लगा हुआ है, वह अभयारण्य के पाओनी इलाके से पिछले 18 अप्रैल से गायब है. तीन महीनों से उसे खोजा जा रहा है लेकिन उसकी कोई जानकारी नहीं मिल सकी है. जय के लापता होने से पहले आखिरी बार उसे जिस जगह पर देखा गया था वह शहर करीब 60 किमी दूरी पर है.