नई दिल्ली. दिल्ली सरकार के मीडिया सलाहकार अरुणोदय प्रकाश के निजी आवास में रविवार और सोमवार की दरम्यानी रात एक अजीबोगरीब चोरी हुई जिसमें चोर लैपटॉप या मोबाइल जैसा कोई कीमती सामान ले जाने के बदले नोट पैड और सरकारी कामकाज से जुड़े कागजात उड़ा ले गए.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
अरुणोदय दक्षिणी दिल्ली के शेखसराय इलाके में किराए के मकान में रहते हैं और सीएम अरविंद केजरीवाल के टॉक टू एके कार्यक्रम की वजह से रविवार की रात घर नहीं लौटे. सोमवार को जब लौटे तो घर का ताला टूटा हुआ पाया और जब अंदर घुसे तो हर कमरे की पूरी तरह से पोस्टमार्टम देखकर सन्न रह गए.
 
अरुणोदय ने पूरे घर के हर सामान को देखा तब उन्हें अहसास हुआ कि चोरों ने किसी भी कीमती सामान को हाथ तक नहीं लगाया. लैपटॉप बाहर रखा था, नहीं ले गए. एक मोबाइल फोन बाहर रखा था, वो भी नहीं ले गए. बस हर वो कागज उठाकर ले गए जो सरसरी तौर पर दिल्ली सरकार में उनके कामकाज से जुड़ा हुआ समझ में आया.
 
मनीष सिसौदिया बोले, चोरों का मकसद समझ से परे है
 
चोरी की एफआईआर मालवीय नगर थाना में दर्ज करा दी गई है. पुलिस अरुणोदय के घर के सामने लगी सीसीटीवी कैमरे की फुटेज खंगाल रही है. फॉरेंसिक एक्सपर्ट की टीम ने जांच के दौरान पाया कि घर में अरुणोदय के अलावा दो-तीन और लोगों के हाथ के निशान हैं. पुलिस जांच-पड़ताल में जुटी है.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसौदिया ने चोरी की इस घटना पर मीडिया से बातचीत में कहा कि उन्हें इन चोरों का मकसद समझ में नहीं आ रहा है जो घर में रखे कीमती सामान ले जाने के बदले वो नोट पैड या नोटिंग पेपर ले गए जो अरुणोदय सीएम केजरीवाल या उनके निर्देश पर नोट करते हैं.