कोझिकोड. कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने केरल के कोझिकोड में एक रैली को संबोधित किया. उन्होंने कहा,  मैं ‘सूट-बूट’ सरकार को बधाई देना चाहता हूं.इस सरकार के ‘सूट-बूट सरकार’ होने की पहली वजह हमारे प्रधानमंत्री की कपड़ों के प्रति आकर्षण है. यूपीए सरकार के दौरान किसानों के लिए सबसे जरूरी काम जो हमने किया गया था, इस सरकार में लैंड बिल से उसे बर्बाद किया जा रहा है. मोदी जी ने न्यूनतम समर्थन मूल्य बढ़ाने का वादा किया था, लेकिन कुछ हुआ नहीं. 

सरकार के एक साल पूरा होने पर कांग्रेस ने मोदी और उनके मंत्रियों पर करार पलटवार किया है. कांग्रेस ने अच्छे दिनों को भी चुनावी जुमला करार देते हुए एक साल देश बेहाल का नारा दिया है. उधर कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी आज से दो दिन के केरल दौरे पर हैं. केरल में अगले साल विधानसभा चुनाव होने वाले हैं.

किसानों, मध्यवर्गीय फ्लैट खरीदारों और पूर्व सैनिकों से बातचीत करने के बाद राहुल बुधवार को केरल के तटीय त्रिसूर जिले में चवाक्कड तट पर मछुआरों से बातचीत करेंगे. कांग्रेस उपाध्यक्ष के दफ्तर से जारी एक विज्ञप्ति के मुताबिक इसी दिन वह एर्नाकुलम जिले के अलूवा में रबड़ उत्पादक संगठनों के प्रतिनिधियों से मिलेंगे.

आपको बता दें कि कांग्रेस ने भी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है. कांग्रेस हर मुद्दे पर सरकार को घेर रही है. अर्थव्यवस्था पर सरकार को घेरते हुए पूर्व वित्त मंत्री पी.चिदंबरम ने कहा कि एनडीए के पास कोई दिशा नहीं है. उन्होंने सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि ‘अच्छे दिन’ तो बस चुनावी जुमला था. पी.चिदंबरम ने कहा कि पूर्ण बहुमत होने के बावजूद सरकार आर्थिक नीतियों को आगे बढ़ाने में नाकाम रही है. उन्होंने कहा कि भाजपा अच्छे दिन के वादे के साथ सत्ता में आई थी. पर पिछले एक साल में महंगाई और आम आदमी की मुश्किलें बढ़ी हैं. नौ मुख्य सेक्टर की स्थिति खराब है. सैकड़ो की तादाद में प्रौजेक्ट रुके पड़े हैं। यह अच्छे दिन के संकेत नहीं है.

कांग्रेस ने सरकार के इस आरोप को नकार दिया कि विपक्ष विकास विरोधी व्यवहार कर रहा है. चिदंबरम ने कहा कि राज्यसभा में नेता विपक्ष के तौर पर अरुण जेटली ने ही कहा था कि विपक्षी पार्टी को रुकावट डालने का हक है पर हमने रुकावट नहीं डाली. भाजपा ने लगातार पांच सत्र तक इंश्योरेंस बिल पारित नहीं होने दिया था पर कांग्रेस ने कभी ऐसा नहीं किया.

IANS से भी इनपुट