नई दिल्ली. देश के कई हिस्सों में सोमवार को भी तपती गर्मी का प्रकोप और लू के थपेड़े बने रहे. वहीं इस बीच आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में तीखी गर्मी की वजह से कम से कम 764 लोगों के मारे जाने की खबर है. राज्य सरकार ने रेड अलर्ट जारी कर दिया है और लोगों को एहतियात बरतने को कहा है. इस बीच दिल्ली में सोमवार मौसम का सबसे गर्म दिन रहा, पालम में तापमान 46.4 डिग्री दर्ज किया गया. इसके अलावा दूसरी जगहों पर भी पारा इसी स्तर के आसपास रहा. वहीं ओडिशा के औद्योगिक शहर अंगुल में अधिकतम तापमान 47 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

हालांकि मंगलवार को इस झुलसाती गर्मी से थोड़ी राहत मिलने की उम्मीद है. मौसम विज्ञानियों ने धूल भरी आंधी और गरज के साथ छींटे पड़ने का अनुमान जताया है. इस बीच, तेलंगाना में आपदा प्रबंधन के विशेष आयुक्त सादा भार्गवी ने बताया कि राज्य में लू के प्रकोप से 15 मई से अब तक 215 लोगों की जान जा चुकी है. वहीं आंध्र प्रदेश में आपदा प्रबंधन के अधिकारी के मुताबिक, सोमवार शाम तक लू से मरने वालों की संख्या 551 बताई.

प्रदेश के मौसम विभाग के बुलेटिन के अनुसार रामागुंडम, नलगोंडा और खम्मम में तापमान 45 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू ने राज्य प्रशासन को गर्मी से सुरक्षा के लिए पेयजल और छाछ के खुले शिविर लगाने को कहा. उन्होंने आम जनता से भी अपील की कि संभव हो तो सुबह 11 बजे से शाम 4:30 बजे के बीच धूप में निकलने से बचें. इस बीच विशाखापत्तनम में मौसम विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि लू का प्रकोप एक दिन और बना रहेगा और अगले दिन उत्तर तटीय आंध्र प्रदेश में हल्की बारिश होने की संभावना है.

वहीं ओडिशा में गर्मी से अब तक 43 लोगों की जान जाने की खबर है. हालांकि सरकार ने लू से केवल चार लोगों के मारे जाने की पुष्टि की है. उप विशेष राहत आयुक्त प्रभात रंजन महापात्र ने कहा, ‘लू से कथित मौत के 43 मामलों में से जिला कलेक्टरों ने चार की पुष्टि की है.’ इनमें से दो मामले रायगढ़ जिले से और एक-एक बालेश्वर तथा बारागढ़ से आए हैं.

IANS