पटना. आज राजधानी के संतोषा अपार्टमेंट के तीन अवैध तल्लों पर निगम का हथौड़ा चलने वाला है. इसके विरोध में फ्लोर पर रहने वाले लोग सुबह से ही निगम के खिलाफ धरने पर बैठ गए हैं.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
लोगों का आरोप है कि सुप्रीम कोर्ट ने मुआवजा भुगतान के बाद अवैध निर्माण के तीन तल्लों को तोड़ने को कहा था, लेकिन जिला प्रशासन बगैर भुगतान किए निर्माण तोड़ने की तैयारी में है. जिनके फ्लैट तोड़े जाने हैं उनमें आरा की पूर्व सांसद मीना सिंह के तीन और बांका की पूर्व सांसद पुतुल सिंह के दो फ्लैट भी शामिल हैं.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
अपार्टमेंट के फ्लैटधारियों ने कहा कि चार माह पहले सुप्रीम कोर्ट का फैसला आया था. इसमें छह सप्ताह में आवंटियों को मुआवजा देना था. फिर आवंटियों को चार सप्ताह में फ्लैट खाली करने थे. इसके बाद निगम को तोड़ने की कार्रवाई शुरू करनी थी, लेकिन हमलोगों को अब तक कोई मुआवजा नहीं मिला.