मथुरा. उत्तर प्रदेश में मथुरा जिले के जवाहरबाग में दो जून को हुई हिंसा के बाद अब यहां एक बार फिर हरियाली छाने वाली है. राजकीय उद्यान विभाग 11 जुलाई को इस बाग में एक साथ तीन हजार पौधे लगाने जा रहा है. राज्य सरकार की ओर से 11 जुलाई को पौधरोपण अभियान के तहत एक ही दिन में पांच करोड़ पौधे लगाने का लक्ष्य रखा गया है. इसी अभियान के तहत जवाहरबाग में भी पौधरोपण किया जाएगा. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
जवाहरबाग पर कब्जा मिलने के बाद उद्यान विभाग जवाहरबाग की खूबसूरती लौटाने के लिए प्रयासरत हैं. जो पेड़-पौधे नष्ट हो गए हैं, उनकी भरपाई करने का प्रयास किया जा रहा है. इसलिए जवाहरबाग में नए पौधे लगाने के लिए गड्ढे खोदने का काम जोरों पर है.
 
उद्यान विभाग को लगभग साढ़े तीन हजार पौधे रोपने का लक्ष्य दिया गया है. इनमें से लगभग तीन हजार पौधे जवाहरबाग में ही लगवाए जाएंगे, जबकि शेष पौधे चांदमारी, औरंगाबाद आदि जगहों पर लगाए जाएंगे. मथुरा के जिला उद्यान अधिकारी मुकेश कुमार के मुताबिक, जवाहरबाग में ढाई से तीन हजार पौधे एक ही दिन में रोपे जाएंगे. इसके लिए गड्ढे खोदे जा रहे हैं.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
बता दें कि जवाहरबाग में हुई हिंसा और अग्निकांड में सैकड़ों-हजारों पेड़-पौधे नष्ट हो गए थे. मुख्य आरोपी रामवृक्ष यादव के साथ बाग में रह रहे कब्जाधारियों ने भी उद्यान विभाग की सम्पदा को खत्म करने में कोई कसर नहीं छोड़ी थी. खाना बनाने के लिए ईंधन और आग तापने के लिए लकड़ी का बंदोबस्त करने के उद्देश्य से उन्होंने पेड़ों को काटा था. अपनी बस्ती बसाने के लिए भी उन्होंने हरियाली को नष्ट किया.