काशी. अब तक आपने यही सुना होगा कि पति-पत्नी में आपसी सहमति नहीं होने के कारण तलाक नौबत आती है, लेकिन यहां माजरा कुछ और ही है. यहां सिर्फ साथ में नहाने मात्र से तलाक हो सकता है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
शिव की नगरी काशी में वैसे तो करीब 84 घाट हैं, लेकिन एक घाट ऐसा है जिसे तलाक के लिए जाना जाता है. एक ओर जहां इन 84 घाटों को लेकर मान्यता है कि इनके मात्र दर्शन करने वैतरणी पार करने के बराबर है,  वहीं दूसरी इनमें से एक घाट को लेकर लोगों की ऐसी मान्यता है कि यहां एक साथ नहाने वाले पति-पत्नी का तलाक हो जाता है, इसलिए लोगों ने इस घाट का नाम ‘पत्नी मुक्ति’ घाट रख दिया गया है.
 
ये भी देखें:
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
इस घाट का नाम ‘कुवाई घाट’ है. यहां पति-पत्नी साथ में स्नान नहीं करते हैं, क्योंकि यहां के पुरोहितों के मुताबित इस घाट पर साथ में नहाने से रिश्तें में खटास आने शुरू हो जाते हैं, यहां तक की तलाक की भी नौबत आ जाती है. इस घाट को नारद घाट के नाम से भी जाना जाता है.