लखनऊ. कैबिनेट मंत्री आजम खां के व्यवहार से खफा उत्तर प्रदेश राज्य सेतु निगम के इंजीनियर हड़ताल पर चले गए. उन्होंने काला फीता बांधकर कामकाज का बहिष्कार किया. उनका कहना है कि यदि मंत्री माफी नहीं मांगेंगे तो एक दिन की हड़ताल के बाद अगली रणनीति तय कर बड़ा आंदोलन किया जाएगा.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
सेतु निगम के डिप्लोमा संघ के अध्यक्ष श्रीप्रकाश गुप्ता और इंजीनियर संघ के अध्यक्ष इंजीनियर अशोक तिवारी ने बताया कि इस मामले को लेकर पूरे प्रदेश में करीब 600 इंजीनियरों ने काम नहीं किया.
 
संघ के नेताओं का कहना है कि वरिष्ठ मंत्री आजम खां के रामपुर जिले के जौहर यूनिवर्सिटी में पुल का निर्माण किया जाना है. इन नेताओं का आरोप है कि रामपुर के डिप्टी प्रोजेक्ट मैनेजर आर. के. अग्रवाल से इसी मामले में बीती 25 जून को मंत्री ने अभद्रता की जबकि वहां नियमानुसार काम कराया जा रहा है.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
संघ के नेताओं ने कहा कि मान-सम्मान को गिरवी रख कर काम नहीं किया जाएगा. नियमानुसार काम करने में बेवजह का दबाव डालना उचित नहीं है.