आगरा. उत्तर प्रदेश के आगरा जिले के एक बच्चे ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को दर्दभरा पत्र लिखकर अपनी जान बचाने की गुहार लगाई थी, जिसके बाद मुख्यमंत्री अखिलेश यादव अंश की मदद के लिए आगे आए हैं. दरअसल, ब्लड कैंसर की वजह से जिंदगी से लड़ रहे अंश ने अपने इलाज के लिए पीएम मोदी और मुख्यमंत्री से आर्थिक सहायता की गुहार लगाई थी.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
अंश के पत्र के बाद सीएम अखिलेश यादव के आदेश पर बच्चे के इलाज की व्यवस्था लखनऊ के एसजीपीजीआई में करा दी गई है. अपर निदेशक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण डा. एचएस दानू ने बताया कि बच्चे को लखनऊ में भर्ती कराया जाएगा.  
 
‘मैं सिर्फ 11 साल का हूं, मेरी मदद करो’
 
अंश ने चिट्ठी में लिखा था, ‘मैं सिर्फ 11 साल का हूं और दुनिया देखने के लिए जीना चाहता हूं. पिछले तीन साल से मेरी बीमारी का इलाज चल रहा है. उसके बाद भी मैं अभी तक ठीक नहीं हो पाया हूं.’ अंश ने आगे लिखा है कि बीमारी के इलाज में मेरा घर, मम्मी के जेवर और बाकी का सारा सामान बिक गया है. अब उनके पास मेरे इलाज के लिए कुछ भी नहीं है.
 
‘खाने के लिए भी बहुत परेशानी है’
 
अंश ने यह भी लिखा था कि मैं अभी बहुत छोटा हूं और ठीक होकर पूरी दुनिया देखना चाहता हूं, लेकिन आज हमारे घर की हालत इतनी खराब है कि खाने के लिए भी बहुत परेशानी होती है.
 
‘सिर्फ 10 प्रतिशत ही बचने की उम्मीद’
 
बता दें कि अंश को पिछले 3 सालों से ब्लड कैंसर है. अंश के पिता ने बताया कि 3 साल पहले डॉक्टरों ने जयपुर में अंश का इलाज करने से मना कर दिया था. डॉक्टरों ने कहा कि अंश के सिर्फ 10 प्रतिशत ही बचने की उम्मीद है. इसके बाद हमने मोहाली में आयुर्वेदिक इलाज शुरू किया, लेकिन कोई फायदा नहीं मिला, बल्कि उसके पेट में गांठे हो गई.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
TV पर देख कर हुआ प्रेरित
 
अंश ने बताया कि उसने टीवी पर पीएम नरेंद्र मोदी और अखिलेश यादव की भलाई करने वाले चेहरे को देखा था. इसी से प्रेरित होकर उसने फैसला किया कि वह पत्र लिखकर पीएम मोदी और अखिलेश से मदद की मांग करेगा.