जम्मू. अमरनाथ यात्रा पर आतंकी हमले की साजिश के खुलासे के बाद इसकी तैयारी को लेकर पुख्ता इंतजाम किए गए हैं. यात्रा की सुरक्षा को ध्यान में रखकर शिक्षा एवं पर्यटन राज्यमंत्री प्रिया सेठी की अध्यक्षता में बैठक बुलाई गई. रिपोर्ट के मुताबिक इस बैठक में डीसी अनंतनाग डॉ. सैयद आबिद ने बताया कि पहलगाम रुट से रोजाना 7500 यात्रियों को पवित्र गुफा की तरफ भेजा जाएगा. 

इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर

क्या खास है यात्रा के दौरान

एसडीएम कार्यालय पहलगाम में ज्वाइंट कंट्रोल रुम स्थापित हो चुका है. कैंप डायरेक्टर अपने-अपने कैंपों में रिपोर्ट कर चुके हैं. मंत्री ने कहा कि यात्रियों को दी जाने वाली सुविधाओं के लिए सुविधाओं के लिए विशेष तौर पर यात्रा मार्ग पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए जाएं. रिपोर्ट के मुताबिक बैठक में बताया गया कि 2350 टेंट व 170 दुकानें अलर्ट कर दी गई हैं. पहलगाम रुट पर दौ सौ बसें भी सर्विस उपलब्ध करवाएंगी.

Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter

 मेडिकल कैंप की खास व्यवस्था

चंदनवाड़ी, शेषनाग और पंजतरणी में अस्पताल तैयार किए गए हैं, जबकि यात्रा मार्ग पर 21 मेडिकल कैंप स्थापित किए गए हैं. उन्होंने अधिकारियों से कहा कि वाट्सएप ग्रुप काम करना चाहिए ताकि सबको सही जानकारी हासिल हो सके. बता दें कि अमरनाथ यात्रा 2 जुलाई से शुरू हो रही है और यह 24 अगस्त को संपन्न होगी. और अबतक 143,462 लोगों ने यात्रा के लिए पंजीकरण करा लिया है.