बेंगलुरू. उबेर इंडिया की पहली महिला ड्राइवर भारती वीरथ की मौत हो गई है. सोमवार की शाम को उनका शव पंखे पर लटका मिला. घटनास्थल से कोई सुसाइड नोट बरामद नहीं हुआ है. पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है और हत्या और आत्महत्या दोनों ही एंगल से मामले की जांच में जुटी है. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
इस मामले में पुलिस अधिकारी का कहना है कि, “यह आत्महत्या का मामला लग रहा है. मृतक वी. भारती का शव सोमवार रात उसके कमरे की छत से फंदे के सहारे लटका मिला.” पुलिस अधिकारी ने बताया, “हमारे रिकॉर्ड के अनुसार, भारती शहर में सबसे पहली महिला कैब चालकों में से एक थी. उसने दो साल पहले ही महिला कैब सेवा ‘एंजेल सिटी कैब्स’ में काम करना शुरू किया था.”
 
बता दें कि दो साल पहले बेंगलुरु में कैब कंपनी उबर की पहली महिला ड्राइवर बनकर भारती वीरथ सुर्खियों में आईं थीं. बताया जा रहा है कि भारती अनाथ थीं. उनकी कैब नागाशेट्टीहाली कॉलोनी में उसके घर के सामने खड़ी थी. उन्होंने फोर्ड फिएस्ता कार खरीदी थी जिसे वह बतौर टैक्सी यूज करती थीं. स्थानीय मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, 10 साल पहले 39 साल की वीरथ आंध्र प्रदेश के गुंटूर से बेंगलुरु आई थीं. 
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
द न्यूजमिनट डॉट कॉम के अनुसार, भारती वीरथ ने पहले दर्जी के तौर पर काम किया और फिर एक एनजीओ से जुड़ीं जहां उन्होंने ड्राइविंग करनी सीखी. बाद में उन्होंने उबर कंपनी जॉइन की। और ऐसे वह शहर की पहली महिला ड्राइवर बन गईं.