मुंबई. धर्मस्थलों पर महिलाओं को पुरुषों के बराबर हक दिलाने की लड़ाई पर विवाद बढ़ता जा रहा है. इस बीच हाजी अली दरगाह में महिलाओं की एंट्री मामले में डाली गई याचिका पर बॉम्बे हाईकोर्ट मंगलवार को अपना फैसला सुनाएगा.
 
2011 के बाद से महिलाओं के मजार तक जाने पर है पाबंदी 
हाजी अली दरगाह में 2011 के बाद महिलाएं मजार तक नहीं जा सकती. इसके खिलाफ़ बॉम्बे हाइकोर्ट में याचिका दायर की गई है, जिस पर फैसला आना अभी बाकी है.
 
इससे पहले महाराष्ट्र के शनि शिंगणापुर मंदिर में महिलाओं के प्रवेश का सफल अभियान चलाने वालीं भूमाता ब्रिगेड की तृप्ति देसाई दरगाह में प्रवेश करने की कोशिश की है.