नई दिल्ली. दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच सेल ने विधानसभा के फर्जी स्टीकर और आईकार्ड बनाने और बेचने वाले गिरोह का भंड़ाफोड़ किया है. दिल्ली पुलिस ने इस मामले में दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है.  क्राइम ब्रांच के ज्वाइंट कमिश्नर रवींद्र यादव के अनुसार टीम को सूचना मिली थी कि कुछ लोग विधानसभा के फर्जी स्टिकर बेच रहे हैं. इसी सूचना पर क्राइम ब्रांच ने गुरुवार को रोहिणी के एक रेस्टोरेंट में छापेमारी कर विनोद बंसल और देवेंद्र राणा नाम के शख्स को गिरफ्तार किया.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
पूछताछ में पता चला कि विनोद दिल्ली विधानसभा के स्टिकर देवेंद्र राणा को बेचने आया था. विनोद के घर और गाड़ी की तलाशी से बड़ी मात्रा में विधानसभा के फर्जी स्टिकर, आईकार्ड और पार्किंग पास बरामद हुए. उसके पास एक न्यूज़ चैनल का माइक भी बरामद हुआ, जिसे वो लेकर वह विधानसभा जाया करता था.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
विनोद ने पुलिस को बताया कि वह सारा सामान दिल्ली विधानसभा के पूर्व सहसचिव लालमणि के ड्राईवर जितेंद्र से लेता आ रहा है. पुलिस ने जितेंद्र को भी गिरफ्तार कर लिया. जितेंद्र के पास भी विधानसभा के फर्जी आईकार्ड, स्टिकर और पार्किंग पास बरामद हुए. उसकी कार में भी विधानसभा का फर्जी स्टिकर लगा हुआ है.