नई दिल्ली. प्रीत विहार पुलिस ने 5 ऐसे शातिरों को गिरफ्तार किया है, जिन्होंने रातों-रात अमीर होने के चक्कर में 2 फर्म को करोड़ों का चूना लगाने का प्लान बनाया था, लेकिन इससे पहले कि ये अपने मकसद में कामयाब हो पाते पुलिस के चंगुल में फंस गए. पुलिस ने जिन शातिरों को गिरफ्तार किया है, उनमें एक बैंक का कर्मचारी भी शामिल है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
दरअसल प्रीत विहार पुलिस को आईसीआईसीआई बैंक से सूचना मिली कि कोई गैंग बैंक के कस्टमर के साथ 11 करोड़ और 71 लाख की ठगी करने की कोशिश कर रहा है, इसी सूचना पर पुलिस ने मामला दर्ज कर जाँच शुरू की. जाँच के दौरान पुलिस ने नरेंद्र कुमार और राजेंद्र कुमार को गिरफ्तार किया. पूछताछ में इन्होंने पुलिस को बताया कि इन्होंने 1 साल पहले श्री शिरडी साई बाबा ट्रस्ट के नाम से बैंक में अकॉउंट खोला था. उसके बाद इन दोनों ने एक प्लान बनाया और प्लान में बैंक के एक कर्मचारी को भी शामिल कर लिया.
 
प्लान के मुताबिक बैंक के कर्मचारी बलवंत सिंह ने इन दोनों को बताया कि 2 ऐसी फर्म है जिनमें करोड़ों रूपये का ट्रांजैक्शन होता है. इसके बाद इन दोनों ने अपने प्लान में दो और लोगों उदित और देवेंद्र को गैंग में शामिल किया गया. इन दोनों ने फर्जी चेक बनाये और 1 चेक पर 11 करोड़ व दूसरे पर 71 लाख का अमाउंट लिख कर अपनी फर्जी ट्रस्ट के नाम पर बैंक में जमा कर दिया.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
चेक देखने के बाद बैंक मेनेजर को शक हुआ और उसने उन दोनों फर्मो के मालिकों से जब बात की तो पता चला कि ऐसा कोई चेक उन्होंने श्री शिरडी साई बाबा ट्रस्ट के नाम पर नहीं दिया है, इसके बाद बैंक ने इस मामले की सूचना पुलिस को दी, और पुलिस ने इन 5 शातिरों को गिरफ्तार कर लिया, अब पुलिस इनसे ये पता करने में जुटी है कि इससे पहले भी कितने और ऐसे ठगी के केसो में शामिल रहे है.