भोपाल. लोकतंत्र सैनानी (मीसाबंदी) संघ के प्रांताध्यक्ष और बीजेपी के वरिष्ठ नेता कैलाश सोनी ने बीजेपी के प्रदेश दफ्तर में दो प्रमुख नेताओं की मौजूदगी में आरक्षण का जमकर विरोध किया. उन्होंने कहा कि वे आरक्षण के खिलाफ हैं, क्योंकि यह राजनीति में जातिवाद को बढ़ावा देता है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
वहीं पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान ने सोनी के बयान को निजी राय बताया है. बीजेपी के प्रदेश कार्यालय में सोनी ने संवाददाता सम्मेलन बुलाया. इस मौके पर उन्होंने पार्टी लाइन से हटकर आरक्षण का विरोध किया.
 
बता दें कि राज्य के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और प्रदेशाध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान लगातार आरक्षण का समर्थन करते आ रहे हैं. यह उनकी राजनीतिक मजबूरी है. सोनी ने कहा कि वे आरक्षण के खिलाफ हैं, यह व्यवस्था ठीक नहीं है. वे यहीं नहीं रुके, उन्होंने तो यहां तक कह दिया कि राजनीति में विखंडन और जातिवाद को बढ़ावा दिए जाने का कारण ही आरक्षण है. इसी से राजनीति में गड़बड़ हो रही है.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
सोनी का बयान आने के बाद प्रदेशाध्यक्ष चौहान आग बबूला हो गए. उन्होंने कहा कि सोनी सिर्फ एक संगठन के पदाधिकारी हैं, वे पार्टी के कर्ताधर्ता नहीं हैं. उनकी यह व्यक्तिगत राय हो सकती है.