रांची. दहेज प्रताड़ना के आरोप में एक लड़की को सरेआम गिरफ्तारी के बाद उसकी कमर में रस्सी बांधकर ट्रेन से झारखंड ले जाने का मामला सामने आया है. दरअसल, यह घिनौना बर्ताव झारखंड पुलिस का है. महिला को ले जा रहे पुलिसकर्मियों में महिला पुलिस भी शामिल थी. कई लोगों ने पूरे दृश्य को अपने कैमरों में भी कैद कर लिया है. बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने रस्सी से बांधने को अमानवीय माना है और इसे मानव अधिकारों का उल्लंघन बताया है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
भाभी ने दर्ज कराया था केस
 
झारखंड की रहने वाली अपर्णा की भाभी ने अपने ससुराल वालों पर डोमेस्टिक वायलेंस का केस दर्ज कराया है. मामले में झारखंड पुलिस जब मंगलवार को राजस्थान के अलवर पहुंची, तो अपर्णा की फैमिली उसे घर पर छोड़कर भाग गई. बाद में अपर्णा डर के कारण पड़ोसी के घर पर चली गई. जहां पुलिस ने लड़की को अरेस्ट कर रस्सी से बांध दिया.
 
पूरे रास्ते रस्सी बंधे ट्रेन से झारखंड रवाना
 
इसके बाद पुलिस ने अलवर के ही एक हॉस्पिटल में युवती का मेडिकल कराया गया और मेडिकल के बाद पुलिस ने फिर से लड़की को रस्सियों से बांधा और जीप में डालकर रेलवे स्टेशन ले गई. इतना ही नहीं रस्सी से बांध कर ही अपर्णा को ट्रेन में बैठाकर पुलिस झारखंड के लिए रवाना हो गई.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter