नई दिल्ली. देश की मौद्रिक नीति की नोडल एजेंसी भारतीय रिजर्व बैंक भले सरकारी सिस्टम का हिस्सा हो लेकिन यह देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, वित्त मंत्री अरुण जेटली या फिर प्रधानमंत्री कार्यालय या फिर वित्त मंत्रालय तक को फॉलो नहीं करता है. आप चौंक रहे होंगे लेकिन यही सच है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
सोशल मीडिया साइट Twitter पर भारतीय रिजर्व बैंक ने 30 जनवरी, 2012 को दोपहर 2.05 बजे अपना खाता खोला था और करीब 4 साल बाद इसे आज फॉलो करने वाले ट्वीटर यूजर्स की संख्या 43200 से कुछ ज्यादा है. इन चार साल और करीब 4 महीने में आरबीआई ने 5000 से कुछ ज्यादा ट्वीट भी किए हैं. खाते का हैंडल है @RBI और यूआरएल है https://twitter.com/RBI.
 
 
अचरज की बात बस इतनी है कि रिजर्व बैंक का यह ऑफिसियल ट्वीटर एकाउंट धरती पर किसी को भी फॉलो नहीं करता. ना तो देश के प्रधानमंत्री कार्यालय को, ना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को, ना वित्त मंत्रालय को और ना ही वित्त मंत्री अरुण जेटली को. ऐसा क्यों, ये तो आरबीआई का सोशल मीडिया विंग संभालने वाले ही जानें पर ये चौंकाने वाला तथ्य तो है ही.
 
ट्वीटर पर आरबीआई गवर्नर रघुराम राजन के नाम से एक खाता तो है लेकिन वो वेरिफाइड नहीं है इसलिए यह नहीं कहा जा सकता कि वो असल में उनका ही है या उनके नाम से कोई और खेल कर रहा है.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
ट्विटर पर देश का प्रधानमंत्री कार्यालय 281, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 1372, वित्त मंत्रालय 355 और वित्त मंत्री अरुण जेटली 162 लोगों को फॉलो करते हैं. ट्वीटर पर अपने कद के हिसाब से लोग या संस्थान दूसरे लोगों या संस्थानों को फॉलो करते हैं लेकिन आरबीआई का किसी को भी फॉलो नहीं करना एक दिलचस्प रहस्य है.