नई दिल्ली. कांग्रेस नेता कमलनाथ सिंह सिख दंगों में नाम की वजह से खबरों में हैं. इस बीच कमलनाथ ने कांग्रेस महासचिव पद से इस्तीफ दे दिया है जिसे कांग्रेस की अध्यक्ष सोनिया गांधी ने स्वीकार कर लिया.
 
कुछ समय पहले ही कांग्रेस ने गुलाम नबी आजाद को उत्तर प्रदेश और कमलनाथ को पंजाब और हरियाणा का जिम्मा दिया था. इससे पहले यूपी की कमान मधुसूदन मिस्त्री और पंजाब-हरियाणा की जिम्मेदारी शकील अहमद के पास थी. कमलनाथ की सिख दंगों में भूमिका पर आम आदमी पार्टी और अकाली दल ने सवाल उठाए थे.
 
इसी के चलते कांग्रेस महासचिव पद से इस्तीफा देने के बाद कमलनाथ ने इंडिया न्यूज से खास बातचीत में बताया कि बीजेपी और अकाली दल पंजाब के असल मुद्दों से ध्यान भटकाने की कोशिश कर रहे हैं. इसी के चलते बीजेपी ने 32 साल बाद मुझ पर सिख दंगों का आरोप उछाला है. 
 
कमलनाथ ने बताया कि बीजेपी पंजाब के किसान, ड्रग्स की समस्या जैसे असल मुद्दे पर नहीं आती बल्कि दूसरे मुद्दों को उठाती रहती है. बीजेपी हमेशा से ऐसा करती आई है लेकिन वह अपने इस काम में सफल नहीं हो पाएगी.
 
इंडिया न्यूज से खास बातचीत में कमलनाथ ने कई पंजाब को लेकर चल रही राजनीति के अलावा कई अहम मुद्दों पर बात की. वीडियो पर क्लिक करके देखिए पूरी बातचीत