नई दिल्ली. चीनी सेना के भारतीय सीमा में घुसपैठ करने की नापाक साजिश की खबर सामने आई है. रिपोर्ट्स के अनुसार गुरूवार को 276 चीन पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के सैनिक अरूणाचल प्रदेश में अलग-अलग जगहों पर सीमा पार कर भारतीय इलाके में घुस गए, जिसके बाद उन्होंने भारतीय सैनिकों पर हमला करने की कोशिश की.
 
लेकिन समय रहते हालात को संभाल लिए गए. बता दें कि कि 9 जून को भी कामेंग इलाके में करीब 250 चीनी सैनिक घुस आए थे, जिन्हें भारतीय सैनिकों ने बाहर खदेड़ दिया था. 
 
गृह राज्यमंत्री ने की पुष्टि
वहीं केंद्रीय गृह राज्यमंत्री किरण रिजीजू ने भी इस घटना की पुष्टि करते हुए कहा कि चॉकलेटों के लेन-देन के साथ चीनी और भारतीय सैनिकों के बीच झड़प खत्म हो गई.
 
क्या है पूरी घटना ?
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार करीब 215 चीनी सैनिकों ने अरुणाचल प्रदेश के यांग्त्से इलाके में मौजूद शंकर टिकरी एलएसी में आगे बढ़ने की कोशिश की. 20-20 सैनिक अरुणाचल के थांग ला और मेरा गाप से और 21 सैनिक यांकी-1 से भारतीय सीमा में घुसे.
 
आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि रेग्युलर बैनर ड्रिल के दौरान चीनी सैनिकों ने आक्रामक रुख दिखाते हुए भारतीय सैनिकों पर हमला करने की कोशिश की, लेकिन उन पर काबू पा लिया गया.
 
2 पैकेट चॉकलेट देने के बाद लौट गए चीनी
रिपोर्ट्स के मुताबिक तनाव तब दूर हुआ जब चीनी सेना के चार अफसर एक इंटरप्रिटेटर के साथ भारतीय सेना के कमांडिंग अफसर से मिले और उन्हें दो पैकेट चॉकलेट दी. यांकी-1 चौकी के प्रभारी को भी एक गिफ्ट दिया गया, जिसके बाद चीन के सैनिक अपने इलाके में लौट गए.