लखनऊ. बीजेपी विधान मंडल दल के नेता सुरेश कुमार खन्ना जहां राज्यसभा और विधानपरिषद चुनाव में संख्या से अधिक वोट मिलने को पार्टी के ग्राफ में बढ़ोतरी बता रहे है, वहीं गोरखपुर के बीजेपी विधायक विजय बहादुर यादव द्वारा सपा उम्मीदवार के समर्थन में वोट किए जाने को पार्टी विरोधी गतिविधि बताते हुए विधान मंडल दल की सदस्यता से निलंबित कर दिया. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
इसके साथ ही प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्या से उनके खिलाफ (विजय बहादुर) कार्रवाई करने की संस्तुति की है. बीजेपी विधान मंडल दल के नेता सुरेश कुमार खन्ना ने बताया कि गोरखपुर ग्रामीण क्षेत्र से विधायक विजय बहादुर यादव को पार्टी नीति के विरुद्ध आचरण करने, दल के मुख्य सचेतक और बीजेपी विधान मंडल दल के नेता के आदेश-निर्देश न मानने और पार्टी विरोधी गतिविधियों में लिप्त होने के कारण विधान मंडल दल की सदस्यता से निलंबित कर दिया है.
 
उन्होंने आरोप लगाया कि यादव का आचरण स्वेच्छा से दल-त्याग करने की परिधि में आता है इसलिए पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्या को उनके विरुद्ध कार्रवाई किए जाने की संस्तुति की है.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
खन्ना ने उप्र विधान परिषद् एवं राज्यसभा के द्विवार्षिक चुनावों पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि पार्टी के 41 विधान सभा सदस्य थे, लेकिन विधान परिषद चुनावों में उसके दोनों प्रत्याशियों को 51 मत प्राप्त हुए. साथ ही राज्यसभा में भी बीजेपी के अधिकृत व समर्थित प्रत्याशी को कुल 54 वोट मिले. इससे साफ है कि बीजेपी के प्रति जनसमर्थन बढ़ रहा है और जनसामान्य में पार्टी की स्वीकार्यता बढ़ी है.