पटना. इंटर टॉपर्स मामले में बिहार शिक्षा विभाग और प्रशासन की किरकिरी के बाद एक और सनसनीखेज मामला सामने आया है. बिहार में किस तरह से पैसे लेकर मनचाही डिग्रियां बांटी जा रही है इसकी पोल हाजीपुर के बीएड छात्र ने खोल दी. हाजीपुर के एक बीएड विद्यालय में इंडिया न्यूज के रिपोर्टर ने छात्र से उसके विषयों के बार में पूछा तो वो अपने सब्जेक्ट भी नहीं बता सका. बता दें कि इससे पहले बिहार इंटर की टॉपर रुबी राय भी अपने विषयों के नाम सहीं से नहीं बता सकी थी. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
बता दें कि वैशाली के विशुन राय कालेज, किरतपुर के छात्रों का इंटर साइंस और आर्ट्स के टॉपरों का जब मीडिया ने इन्टरव्यू किया तो वे सामान्य सवालों के जवाब भी नहीं दे पाए. मामला जब उछला तो बिहार बोर्ड ने विज्ञान और कला के पहले पांच टॉपरों को इन्टरव्यू के लिए बुलाया. अगले ही दिन दो टॉपर सौरभ श्रेष्ठ और राहुल कुमार का रिजल्ट रद्द कर दिया गया. इसके बाद जांच कमेटी गठित की गई. 
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter