जम्मू. कश्मीर के अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी को पासपोर्ट देने के मुद्दे पर जम्मू कश्मीर की पीडीपी, भाजपा गंठबंधन सरकार के बीच एक बार फिर तानातानी पूर्ण स्थिति बन गयी है. पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने सैयद अली शाह गिलानी को पासपोर्ट देने की पैरवी की है, जबकि भाजपा ने उनके भारत विरोधी कार्यो के लिए उनसे माफी की मांग की है.
 
महबूबा मुफ्ती ने कहा कि गिलानी एक बुजुर्ग व्यक्ति हैं और वह अपनी बीमार बेटी से भेंट करने अगर जेद्दाह जाना चाहते हैं. इसलिए उन्हें यात्र के लिए जरूरी दस्तावेज जारी करने में दिक्कत नहीं होनी चाहिए. उल्लेखनीय है कि सैयद अली शाह गिलानी ने पासपोर्ट बनाने के लिए आवेदन दिया है. 
 
दरअसल, गिलानी अपनी अस्वस्थ बेटी को देखने सउदी अरब जाना चाहते हैं. उधर, प्रदेश भाजपा ने कहा है कि अगर गिलानी पासपोर्ट चाहते हैं तो पहले उन्हें खुद को भारतीय मानना चाहिए और अपने राष्ट्र विरोधी गतिविधि के लिए क्षमा याचना करनी चाहिए. भाजपा प्रवक्ता खालिद जहांगीर ने कहा है कि जब तक वे पिछले 25 साल में अपनी गलतियों के लिए माफी नहीं मांगते तब तक उन्हें पासपोर्ट नहीं दिया जा सकता है.

IANS