मथुरा. मथुरा में हुई हिंसा पर राजनीति बढ़ती जा रही है. इस बीच उत्तर प्रदेश पुलिस ने गृह मंत्रालय को रिपोर्ट सौंपी है. सूत्रों के अनुसार रिपोर्ट में पुलिस ने लिखा है कि बिना तैयारी के उन्हें कार्रवाई के लिए मजबूर किया गया था. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
पुलिस ने यह भी माना है कि मामले में पुलिस से बड़ी चूक हूई है. सूत्रों के अनुसार पुलिस ने बताया कि हिंसा के दौरान कोई भी राजनीतिक हस्तक्षेप नहीं था. साथ ही हमला करने वालों के पास बहुत सारे हथियार मौजूद थे. 
 
इस बीच यूपी के मुख्यमंत्री अखिलेख यादव ने कहा कि वह जांच कराएंगे वहीं बीजेपी इस पर सीबीआई जांच की मांग कर रही है. बीजेपी का अखिलेश सरकार के खिलाफ प्रदर्शन मामले की निष्पक्ष जांच की मांग को लेकर बीजेपी कार्यकर्ताओं ने शहर में प्रदर्शन किया और विधानसभा को भी घेरने की कोशिश की. इस दौरान पुलिस से उनकी झड़प भी हुई. अखिलेश सरकार के खिलाफ सड़क पर उतरी बीजेपी ने शिवपाल यादव के इस्तीफे और पीड़ितों के लिए मुआवजे की राशि को बढ़ाने की मांग की.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter