नई दिल्ली. केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने उत्तर प्रदेश के मथुरा में हुई हिंसा पर खेद जताया है. राजनाथ ने कहा कि हिंसा की घटना का बहुत दुख है और ऐसा नहीं होना चाहिए था. यूपी में कानून व्यवस्था पर सवाल उठाते हुए राजनाथ ने कहा कि देश का गृहमंत्री होने के बाद भी मैं प्रदेश के कानून-व्यवस्था में हस्तक्षेप नहीं कर सकता हूं.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
उन्होंने कहा, ‘यूपी सरकार अपील करे, हम तुंरत इंतजाम करेंगे, हिंसा कोई छोटी घटना नहीं है. लगता है कोई अंदर की बात है, जिसका खुलासा होना चाहिए. यूपी सरकार सीबीआई जांच के लिए लिखित में अपील करें’
 
 
क्‍यों भड़की आग?
जवाहर बाग पर कब्‍जा करने वाले बाबा जय गुरु देव के अनुयायी हैं. इनकी 9 सूत्रिय मांग है, जिसके लिए ये 2 साल पहले दिल्‍ली जाकर सत्‍याग्रह करने वाले थे. दिल्‍ली में जगह नहीं मिलने की वजह से इन्‍होंने मथुरा के जवाहर बाग में ही अपना डेरा जमा लिया. हालांकि, मथुरा प्रशासन ने इन्‍हें एक दिन के लिए यहां सत्‍याग्रह करने की परमिशन दी थी. लेकिन सत्‍याग्रहियों ने एक दिन बितने के बाद भी यह जगह खाली करने से मना कर दिया.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
इसके बाद प्रशासन ने इन्‍हें कई बाद समझाने और जगह खाली करवाने की कोशिश की, लेकिन ये नहीं मानें. इस बीच सत्‍याग्रहियों ने पुलिस पर पत्‍थराव के साथ फायरिंग शुरू कर दी. इनका नेता रामवृक्ष यादव है. उसके पैर में भी गोली लगी है.