मथुरा. उत्तर प्रदेश के मथुरा में हुई हिंसक झड़प में एक बड़ा खुलासा हुआ है. खबर है कि जब उपद्रवी पुलिस वालों के ऊपर हमला कर रहे थे, तब पुलिस वाले फायरिंग के आदेश का इंतजार कर रहे थे. पुलिस को जवाबी फायरिंग करने के लिए आदेश देरी से मिला था. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक जवाबी फायरिंग करने में देरी हुई थी.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
कहा जा रहा है कि जब एसओ को गोली लगी उसके बाद पुलिस कर्मियों को फायरिंग के आदेश मिले. इसके अलावा यह भी खुलासा हुआ है कि कार्रवाई के लिए और फोर्स की मांग की गई थी, लेकिन अतिरिक्त टीमें काफी देरी से घटनास्थल पर पहुंची.
 
बता दें कि मथुरा में हिंसक झड़प के बीच सिटी एसपी और एसओ समेत 27 लोगों की मौत हो गई है. पुलिस महानिदेशक जावीद अहमद ने 24 के मरने की पुष्टि की है. तीन लोगों ने आगरा के एसएन मेडिकल कॉलेज में इलाज के दौरान दम तोड़ा है. मृतकों में दो महिलाएं हैं. तीन पुलिसकर्मी लापता हैं, जिनकी तलाश हो रही है. 116 महिलाओं सहित 320 लोग गिरफ्तार हुए हैं. मुख्य आरोपियों पर चिह्नित कर रासुका में कार्रवाई होगी.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter