कोलकाता. रक्षा राज्यमंत्री राव इंद्रजीत सिंह ने पूर्व पाकिस्तानी राष्ट्रपति जनरल परवेज मुशर्रफ की टिप्पणियों का जवाब देते हुए कहा कि 1999 के कारगिल युद्ध में उनकी ‘‘नाक तोड़’’ दी गई. मुशर्रफ ने कहा था कि पाकिस्तानी सेना ने कारगिल युद्ध में ‘‘भारत की गर्दन दबोच’’ ली थी. सिंह ने कहा कि मुशर्रफ अब कुछ नहीं रहे (पाकिस्तान में). उनका राजनीतिक जीवन डांवाडोल रहा. वह जो कहते हैं उसका जवाब देने की जरूरत नहीं है. मेरा मानना है कि कारगिल युद्ध में हमने उनकी नाक तोड़ दी.’’
 
वह चौथे पनडुब्बी रोधी युद्धक जहाज ‘कवरत्ती’ के जलावतरण से इतर संवाददाताओं से बात कर रहे थे . अपनी पार्टी ऑल पाकिस्तान मुस्लिम लीग की युवा शाखा के सम्मेलन को रविवार को संबोधित करते हुए मुशर्रफ ने कहा, ‘‘मेरा मानना है कि भारत तीन महीने लंबी चली लड़ाई को नहीं भूल पाएगा जब हमारी सेना ने उनकी गर्दन दबोच ली थी .’’
 
नरेन्द्र मोदी की चीन यात्रा का जिक्र करते हुए सिंह ने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री ने चीन के साथ आर्थिक वार्ता की.. चीन इसलिए जवाब दे रहा है क्योंकि वह भारत के साथ अच्छे संबंध चाहता है, खासकर आर्थिक संबंध .’’ यह पूछने पर कि क्या भारत तटीय क्षेत्र में विदेशी खतरे से सुरक्षित है तो सिंह ने कहा, ‘‘हमारे पास बड़ा तटीय इलाका है और हमारी भौगोलिक स्थिति ऐसी है जहां सुरक्षा का उल्लंघन हो सकता है. सालों के अधूरे आधारभूत ढांचे ने हमारी कलई खोल दी.’’ वह पिछली संप्रग सरकार में 2006-09 के बीच रक्षा उत्पादन राज्यमंत्री थे.

IANS