नई दिल्ली. अयोध्या और नोएडा में बजरंग दल द्वारा आयोजित शौर्य शिविर में सेल्फ डिफेन्स की ट्रेनिंग का विवाद अभी ठंडा भी नहीं पड़ा था कि वाराणसी के सिगरा स्थित स्कूल में विश्व हिंदू परिषद् की महिला विंग ने लड़कियों और महिलाओं को हथियारों की ट्रेनिंग देकर एक नया विवाद खड़ा कर दिया है.
 
VHP की महिला इकाई दुर्गा वाहिनी ने वाराणसी के सिगरा स्थित स्कूल में लड़कियों और महिलाओं को हथियार चलाने की ट्रेनिंग देने के लिए एक कैंप लगाने का मामला सामने आया है. वाराणसी में विश्व हिंदू परिषद की महिला विंग दुर्गा वाहिनी ने भारती पब्लिक स्कूल में सेल्फ डिफेंस कैंप आयोजन किया. इस कैंप में महिलाएं हथियारों के साथ ट्रेनिंग करती दिखाई दे रही हैं. उनके हाथ में बंदूक या रायफल जैसा हथियार है.
 
कैंप में महिलाएं और लड़कियों के साथ बच्चियां भी ट्रेनिंग लेती नजर आ रही हैं. सभी को हथियार चलाना सिखाया जा रहा है. हालांकि दुर्गा वाहिनी के अनुसार यह राइफल नहीं बल्कि एयरगन थी. इसके अलावा लाठी डंडे और जूडो की भी ट्रेनिंग दी गई. सूचना मिलने पर पुलिस ने स्कूल में जांच की तो उसे कोई हथियार नहीं मिला. लेकिन तस्वीरों में साफ़ है कि उन्हें हथियार चलाने की ट्रेनिंग दी गई.
 
वाराणसी के आईजी एसके भगत ने कहा कि कैंप में कोई भी आपत्तिजनक हथियार नहीं मिले. यहां तक कि एयरगन या लाठी भी नहीं थी. महिलाओं को सिर्फ जूडो की ट्रेनिंग दी गई. लेकिन तस्वीरें पुलिस के दावों से अलग हैं. बता दें कुछ दिनों पहले अयोध्या में बजरंग दल ने शौर्य शिविर का आयोजन कराकर हथियारों की ट्रेनिंग दी थी. जिसके बाद जिला संयोजक महेश मिश्रा को गिरफ्तार किया गया था.