पटना. अटपटे बयान देने के लिए चर्चित बिहार के पूर्व सीएम जीतनराम मांझी ने बिहार में शराबबंदी की आलोचना करते हुए ये कह दिया कि जब से शराब बंद हुआ है तब से बिहार में पति-पत्नी का मेल-मिलाप मुश्किल हो गया है क्योंकि लोग घर पहुंचते ही सो जाते हैं.
 
मांझी ने कहा कि शराबबंदी का लोगों के वैवाहिक जीवन पर असर पड़ा है और लोग घर में जल्दी सो जा रहे हैं. मांझी ने एक गाना भी गुनगुनाया, ..क्या करूं राम, मुझे बुड्ढ़ा मिल गया, लाना था फूल, गोभी लेकर आ गया. 
 
वैसे तो मांझी ने आज मीडिया को यह कहने के लिए बुलाया था कि बिहार में केंद्र सरकार को तत्काल राष्ट्रपति शासन लगा देना चाहिए क्योंकि नीतीश कुमार सरकार कानून-व्यवस्था बनाए रखने में सक्षम साबित नहीं हो रही है. मांझी ने कहा कि केंद्र सरकार ऐसा नहीं करती है तो ये बिहार की जनता के साथ अन्याय होगा.
 
फिर जब नीतीश के शराबबंदी पर उनसे सवाल पूछा गया तो मांझी साहब ने शराब बंद होने की वजह से लोगों को दांपत्य जीवन में मिलने-जुलने की समस्या की बात छेड़ दी.