दिल्ली. नोएडा और गाजियाबाद में इन दिनों पुलिस वाले इतने चुस्त-दुरुस्त हो गए हैं कि दिल्ली से सटे इन दो बड़े शहरों में लॉ एण्ड ऑर्डर के नाम पर रात में चाय-पराठे-मैगी बेचने वाले तमाम रेहड़ी-ठेले पर बैन लगा दिया गया है.
 
गाजियाबाद की बात छोड़ भी दें तो नोएडा में अनगिनत कॉल सेंटर्स दफ्तर हैं और ये वो शहर है जहां के दफ्तर 24 घंटे अलग-अलग शिफ्ट में काम करते रहते हैं. ऐसे में ड्यूटी कर रात में निकलने वाले और रात में काम करने वालों के लिए ये चाय-पराठे वाली दुकानें घर से दूर घर जैसी जगह थीं.
 
एक दूसरा पहलू ये भी है कि रात में ही खुलने वाली ऐसी कई दुकानों से हजारों लोगों का घर-परिवार चलता है. नोएडा सेक्टर 18 मेट्रो स्टेशन के पास ठेला लगाने वाले एक आदमी ने नाम ना छापने की शर्त पर बताया कि उसकी दुकान में 8 स्टाफ हैं. वो रात 9 बजे आता था और सुबह 5 बजे दुकान समेट लेता था. इस 8 घंटे में ही इतने लोग चाय-पराठे-मैगी खाते थे कि उसका और उसकी दुकान में काम करने वाले 8 लोगों का घर पल जाता था.
 
पुलिस सूत्रों के मुताबिक नोएडा पुलिस ने सभी ठेली-पटरी वालों को 10 बजे रात तक दुकान बंद करने का आदेश दिया है. बार और रेस्तरां को भी 11 बजे तक शटर गिराने कहा गया है अगर उनके पास 24 घंटे खुले रहने का लाइसेंस न हो. आदेश का पालन न करने वालों पर पुलिस वाले एक्शन ले रहे हैं इसलिए गरीब दुकानदार खौफ में काम-धंधा बंद करके घर बैठ गए हैं.