चेन्नई. तमिलनाडु के तिरुप्पुर में चुनाव आयोग के द्वारा जब्त किए गए 570 करोड़ रुपए स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) के थे. बैंक के वरिष्ठ अधिकारियों के जरुरी दस्तावेज दिखाये जाने पर आयोग ने तीन कंटेनरों में भरे हुए 570 करोड़ रुपयों को छोड़ दिया है.
 
बता दें कि दो दिन पहले चुनाव आयोग ने तीन कंटेनर जब्त किए हैं, जिनमें 570 करोड़ रुपए रखे हुए थे. कंटेनरों को अभी तक खोला नहीं गया है. कंटेनरों की सुरक्षा के कड़े इंतजाम भी किए गए हैं.
 
तमिलनाडु के मुख्य निर्वाचन अधिकारी राजेश लाहोनी ने कहा है कि कंटेनरों के सुरक्षा गार्डो के पास दस्तावेजों की मूल प्रति नहीं थी बल्कि केवल फोटकॉपी थी. उन्होंने कहा, ‘हमने स्टेट बैंक और स्पेशल टीम के वरिष्ठ अधिकारियों को इसकी जानकारी दे दी है. उनके दावों की जांच की जा रही है’.
 
कंटेनरों के साथ पकड़े गए लोगों का दावा है कि वो एक बैंक से दूसरे बैंक में पैसे लेकर जा रहे थे. इसे चुनाव आयोग की एक बड़ी कामयाबी माना जा रहा है. कहा जा रहा है कि इतनी बड़ी रकम को कोयम्बटूर से लेकर विजयवाड़ा के बैंकों से ट्रांसफर किया गया है. चुनाव आयोग मामले की जांच कर राहा है. इसे अभी तक की सबसे बड़ी रकम माना जा रहा है जिसे चुनाव आयोग द्वारा सीज किया गया है. बता दें कि कुछ दिन पहले ही चुनाव आयोग ने तमिलनाडु से 92 करोड़ रूपये की रकम जब्त की थी.