कोलकाता. पश्चिम बंगाल की राजधानी स्थित जादवपुर यूनिवर्सिटी में बॉलीवुड फिल्म ‘हेट स्टोरी’ के निर्देशक विवेक अग्निहोत्री की फिल्म ‘बुद्धा इन ट्रैफिक जाम’ की स्क्रीनिंग के वक्त छात्रों के दो गुटों में झड़प हो गई. वहीं बीजेपी ने जादवपुर यूनिवर्सिटी को देशविरोधी तत्वों का गढ़ बताया है. बीजेपी ने कहा है कि जादवपुर यूनिवर्सिटी में छात्रों का उपद्रव आम बात हो गई है. यह यूनिवर्सिटी को देशविरोधी तत्वों का गढ़ बन गई है.
 
क्या कहा BJP नेता ने ?
पश्चिम बंगाल के बीजेपी चीफ दिलीप घोष ने कहा कि जादवपुर यूनिवर्सिटी के सीपीएम समर्थित छात्र और वाइस चांसलर ऐसे तत्वों का समर्थन करते हैं. उन्होंने कहा, “जादवपुर यूनिवर्सिटी में छात्रों का उपद्रव आम बात हो गई है. जादवपुर यूनिवर्सिटी के सीपीएम और वाम समर्थित छात्रसंघों की आदत है कि वो अपने विचारधारा के खिलाफ किसी भी चीज का विरोध करते हैं. यह देश के लोकतांत्रिक ढांचे के बिल्कुल खिलाफ है. हम इसकी घोर निंदा करते हैं.” 
 
छात्रों ने क्या कहा ?
छात्रों द्वारा जारी एक बयान के मुताबिक, “इस देश के छात्रों पर फासीवादी हमले हो रहे हैं और जब उनके विचारों व शिक्षा में उनके हस्तक्षेप का विरोध किया जा रहा है, तो देश में हर जगह छात्रों पर हमले हो रहे हैं, उन्हें पीटा जा रहा है और यहां तक कि उनकी हत्या भी की जा रही है.” बयान में कहा गया, “आज, जादवपुर यूनिवर्सिटी में भी इसी तरह के फासीवादी हमलों से गुजर रहा है. इसलिए हम प्रदेश के छात्र समुदाय से अपील करते हैं कि वे शैक्षणिक संस्थानों को फासीवाद स्थल बनाने का विरोध करने के लिए हमारी रैली में हिस्सा लें.”
 
बता दें कि जादवपुर यूनिवर्सिटी ने शुक्रवार को चार बाहरी लोगों के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई, जिनमें तीन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के कार्यकर्ता शामिल हैं. उनपर यूनिवर्सिटी परिसर में विवेक अग्निहोत्री की फिल्म ‘ट्रैफिक जाम’ की स्क्रीनिंग के दौरान छात्राओं से छेड़खानी का आरोप लगाया गया है.